चुनाव अपने ब्राॅण्ड की मार्केटिंग

चुनाव अपने ब्राॅण्ड की मार्केटिंग

खबर ताजा है- उत्तर प्रदेश में कांग्रेस है। यह भी खबर है- कि कांग्रेस मुक्त भारत के बयान से भाजपा पलट गयी है। वजह है, और दोनों ही वजह जायज है। सोनिया गांधी का रोड-शो सफल रहा। उम्मीद से ज्यादा ...

Read More »

स्मिता की पांच कविताएँ

स्मिता की पांच  कविताएँ

1. संवादहीनता की स्थिति में अब इसका निर्णय कौन लेगा कि तुम सही हो या गलत इस विभ्रम की स्थिति में जब तुम ही प्रेक्षक हो इस कालचक्र के जहाँ वक़्त जकड़ा हुआ है तुम्हारे ही तर्कों में उस एक ...

Read More »

इस्लामिक स्टेट का आतंक(?) फ्रांस पर आतंकी हमला

इस्लामिक स्टेट का आतंक(?) फ्रांस पर आतंकी हमला

फ्रांस पर आतंकी हमला(?) ठीक उस दिन हुआ, जिस दिन बास्तिल जेल का पतन हुआ था और 1789 में फ्रांस की राजक्रांति हुई थी। जिसके मूल में स्वतंत्रता, समानता और बंधुत्व की सोच और फ्रांस में लोकतंत्र है। 15 जुलाई ...

Read More »

सब कुछ सहने का सन्नाटा?

सब कुछ सहने का सन्नाटा?

आज की तारीख में किसी के लिये यह बताना मुश्किल है, कि ‘‘हम कहां हैं?‘‘ क्योंकि हमारे होने की पहचान मिट गयी है। यदि आप कहते हैं कि ‘‘हम इंसान हैं‘‘ तो घड़ी के कांटे और मशीनों के पुर्जे आपकी ...

Read More »

काठ के पुतला को महान समझने की भूल

काठ के पुतला को महान समझने की भूल

देश की सरकार सिर्फ चुनाव लड़ रही है। उसके सिर पर मिशन-2017 और मिशन 2019 का भूत सवार है। यह भूत उसने खुद ही सवार किया है। भाजपा ने जो जीत 2014 के लोकसभ चुनाव में हासिल की, उसे लगता ...

Read More »

बद्जुबानी और सेंधमारी का मसला

बद्जुबानी और सेंधमारी का मसला

मायावती के खिलाफ भाजपा ने जहर उगल दिया। अच्छा किया। मोहतरमा दलित समाज के लिये राजनीतिक बहन जी थीं, अब बकौल उनके ‘देवी‘ बन गयीं। बसपा के जिन छत्रपों के खिसकने से मायावती के पांव के नीचे से जमीन खिसक ...

Read More »

अमेरिका की साम्राज्यवादी सरकारों का आतंक – तुर्की में तख्तापलट

अमेरिका की साम्राज्यवादी सरकारों का आतंक – तुर्की में तख्तापलट

आतंकवाद बुरा चेहरा है, हम यह जानते हैं। हम यह भी मानते हैं, कि यह समाज और समाज व्यवस्था की उपज है। एक ऐसी अमानवीय समाज व्यवस्था की उपज है, जिसमें शोषण और दमन है। इस शोषण की कोई सीमा ...

Read More »

अपने मतलब के लिये सलाम न करें

अपने मतलब के लिये सलाम न करें

एक खबर- दक्षिणी कश्मीर के अनंतनाग जिले में श्रीनगर जम्मू हाईवे पर संगल इलाके में अमरनाथ यात्रियों की बस दुर्घटनाग्रस्त हो गयी। ड्राईवर का नियंत्रण बस पर नहीं रहा, और बस फिसल कर खाई में जा गिरी। ड्राईवर बिलाल मीर ...

Read More »

चे और वानी का खेमा

चे और वानी का खेमा

उमर खालिद पर बहस की जरूरत नहीं कई बार ऐसा होता है, कि पांव जमा कर चलने वाला आदमी भी फिसलन का शिकार हो जाता है। वैसे भी, फिसलन है। ढ़लान है। सोच के सामने सवाल है। इस देश में ...

Read More »

कटघरे में आतंकी नहीं, सरकारें हैं

कटघरे में आतंकी नहीं, सरकारें हैं

कश्मीर जल रहा है, और इस बात की सही खबर हिन्दुस्तान के आम लोगों को नहीं है। सही खबरें उन तक पहुंच ही नहीं रही हैं। खबरिया चैनल से लेकर रोज निकलने वाले अखबार न जाने क्या कर रहे हैं? ...

Read More »
Scroll To Top