Home / विश्व परिदृश्य (page 3)

Category Archives: विश्व परिदृश्य

Feed Subscription

ओबामा प्रकरण – शिखर वार्ताओं के मुद्दों को गायब रखने की कवायत

ओबामा प्रकरण – शिखर वार्ताओं के मुद्दों को गायब रखने की कवायत

अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति जॉर्ज डब्ल्यू बुश पर जूतों की मेहरबानी रही। फेके तो गये मगर पड़ा नहीं। बराक ओबामा की वैश्विक विदाई अपने लिये रचे गये विशेष से कमतर व्यवहार और अब गालियों की सौगात से हो रही है। ...

Read More »

इस्लामिक स्टेट का आतंक(?) फ्रांस पर आतंकी हमला

इस्लामिक स्टेट का आतंक(?) फ्रांस पर आतंकी हमला

फ्रांस पर आतंकी हमला(?) ठीक उस दिन हुआ, जिस दिन बास्तिल जेल का पतन हुआ था और 1789 में फ्रांस की राजक्रांति हुई थी। जिसके मूल में स्वतंत्रता, समानता और बंधुत्व की सोच और फ्रांस में लोकतंत्र है। 15 जुलाई ...

Read More »

अमेरिका की साम्राज्यवादी सरकारों का आतंक – तुर्की में तख्तापलट

अमेरिका की साम्राज्यवादी सरकारों का आतंक – तुर्की में तख्तापलट

आतंकवाद बुरा चेहरा है, हम यह जानते हैं। हम यह भी मानते हैं, कि यह समाज और समाज व्यवस्था की उपज है। एक ऐसी अमानवीय समाज व्यवस्था की उपज है, जिसमें शोषण और दमन है। इस शोषण की कोई सीमा ...

Read More »

अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में विदेशी धन

अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में विदेशी धन

लोकतंत्र को एक बड़े राजनीतिक धोखे में बदल दिया गया है। ‘‘अपने देश की सरकार बनाने का अधिकार उस देश की आम जनता को है‘‘ को भले ही सैद्धांतिक रूप से मान्यता मिली हुई है, किंतु, अब ऐसा नहीं रह ...

Read More »

हथियारों की खपत के लिये युद्ध का निर्यात

हथियारों की खपत के लिये युद्ध का निर्यात

राज्यों के विस्तार और साम्राज्यों के उदय के साथ ही हथियारों का उत्पादन एक उद्योग बन गया है। जैसे-जैसे  हथियारों पर सरकारों की निर्भरता बढ़ती गयी, वैसे-वैसे इस उद्योग का विस्तार होता चला गया। आज संयुक्त राज्य अमेरिका दुनिया का ...

Read More »

यूरोपीय संघ – ब्रिटेन….. वैश्विक वित्तीय ताकतों का हित

यूरोपीय संघ – ब्रिटेन….. वैश्विक वित्तीय ताकतों का हित

दुनिया में घट रही किसी भी घटना को अपने नियंत्रण में रखने का हुनर वैश्विक वित्तीय ताकतों ने हासिल कर लिया है। उन्होंने एक ऐसी वित्तीय व्यवस्था विकसित कर ली है, कि किसी भी देश की सरकार उनके सहयोग एवं ...

Read More »

ब्रिटेन का यूरोपीय संघ में होना, न होना?

ब्रिटेन का यूरोपीय संघ में होना, न होना?

1 नवम्बर 1993 में स्थापित, 28 देशों के यूरोपीय संघ से, ब्रिटेन की आम जनता ने अलग होने का निर्णय लिया। पहले से लड़खड़ाती यूरोप की अर्थव्यवस्था के सामने गंभीर संकट पैदा होगा। ब्रिटेन और यूरोपीय संघ की अर्थव्यवस्था से ...

Read More »

अपने देश की व्यवस्था से असहमत अमेरिकी

अपने देश की व्यवस्था से असहमत अमेरिकी

अमेरिकी राष्ट्रपति को यदि आप इंसान मान लें तो उसकी सूरत लगातार खतरनाक और खुंख्वार होती हुई नजर आयेगी। वर्तमान राष्ट्रपति अपने पूर्ववर्ती राष्ट्रपति से दुनिया के लिये, बड़ा संकट बन कर उभरता है। अमेरिकी लोकतंत्र की शायद यही सबसे ...

Read More »

ब्राजील में वैधानिक तख्तापलट-3

ब्राजील में वैधानिक तख्तापलट-3

लातिनी अमेरिकी देशों को संयुक्त राज्य अमेरिका अपने देश, अपने महाद्वीप का पिछवाड़ा समझता रहा है, और उसकी यह समझ आज तक नहीं बदली है, जबकि पिछले दशकों में उसकी शाख लगातार घटी है, उसके एकाधिकार को गंभीर चुनौतियां मिली ...

Read More »

ब्राजील में वैधानिक तख्तापलट-2

ब्राजील में वैधानिक तख्तापलट-2

पिछले एक साल से भी ज्यादा समय से ब्राजील संकट में है। इस संकट की शुरूआत तब हुई जब ‘ऑपरेशन कार वास‘ (लावा गातो) का खुलासा हुआ। बड़े पैमाने पर हुए रिश्वतखोरी और भ्रष्टाचार का यह मामला सरकार के द्वारा ...

Read More »
Scroll To Top