Home / विश्व परिदृश्य / एशिया (page 4)

Category Archives: एशिया

Feed Subscription

सीरिया में आतंकवादियों को सत्ता सौंपने की अमेरिकी-पश्चिमी देशों की नीति

सीरिया में आतंकवादियों को सत्ता सौंपने की अमेरिकी-पश्चिमी देशों की नीति

सीरिया की समस्या को नया मोड़ दिया जा चुका है। 22 अप्रैल को यूरोपीय संघ के लक्जमबर्ग बैठक में, सीरिया पर लगाये गये प्रतिबंधों में ढ़ील देने के नाम पर, यह निर्णय लिया गया है, कि ‘यूरोपीय संघ के सदस्य ...

Read More »

र्इरान-पाकिस्तान गैस पार्इप लार्इन

र्इरान-पाकिस्तान गैस पार्इप लार्इन

”र्इरान और पाकिस्तान गैस पार्इप लार्इन प्रोजेक्ट” की शुरूआत 11 मार्च को पाकिस्तान के राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी और र्इरान के राष्ट्रपति महमूद अहमदीनेजाद की मौजूदगी में की गयी। इसका आयोजन दोनों देश के सीमा पर किया गया। दोनों देशों ...

Read More »

दूरगामी सुरक्षा समझौते का दबाव

दूरगामी सुरक्षा समझौते का दबाव

अफगानिस्तान के राष्ट्रपति हामिद करजर्इ ने कहा कि ”अमेरिकी अधिकारी और तालिबान अफगानिस्तान को अस्थिर बनाये रखने के लिये, मिल कर काम कर रहे हैं, ताकि वो अफगानिस्तान में विदेशी सेनाओं की मौजूदगी को जायज करार दे सकें।” 10 मार्च ...

Read More »

मुक्त बाजारवादी वैश्विक व्यवस्था और चीन की नयी सरकार

मुक्त बाजारवादी वैश्विक व्यवस्था और चीन की नयी सरकार

”अहमियत इस बात की नहीं है, कि पानी कितना गहरा है? अहमियत इस बात की है कि हमें उसे पार करना है। हमारे सामने इसके अलावा और कोर्इ विकल्प नहीं है।” चीन के नये प्रधानमंत्री ने ‘नेशनल पिपुल्स कांग्रेस’ के ...

Read More »

एशिया को बाजार बनाने की कोशिशें जारी हैं

एशिया को बाजार बनाने की कोशिशें जारी हैं

एशिया में कुछ ऐसी बातें भी हो रही हैं, जो थोड़ी सी लीक से हट कर है। • अफगानिस्तान अमेरिकी सरकार के खिलाफ सख्त लहजे में बातें कर रहा है। • पाकिस्तान में आवाम की सरकार, अमेरिकी रिश्तों में आयी ...

Read More »

सीरिया में सैन्य हस्तक्षेप की राह खोलने की कवायतें

सीरिया में सैन्य हस्तक्षेप की राह खोलने की कवायतें

एशिया में सुलगते हुए खतरों पर थोड़ी सी धूल पड़ी है, मगर पशिचमी देश और अमेरिकी सरकार की नीतियों में कोर्इ खास बदलाव नहीं आया है। वो इस बात को स्वीकार करने की स्थिति में ही नहीं है, कि ”सुलगते ...

Read More »

बहरीन में अल-खलीफा के खिलाफ बढ़ता जन असंतोष

बहरीन में अल-खलीफा के खिलाफ बढ़ता जन असंतोष

बहरीन में अल-खलीफा के खिलाफ फरवरी 2011 से ही प्रदर्शन हो रहे हैं। 14 मार्च 2011 को सउदी अरब और संयुक्त अरब अमिरात की सेनायें अल-खलीफा की मदद करने के लिये बहरीन पहुंची थीं। भयानक दमन, उत्पीड़न और प्रतिबंधों के ...

Read More »

तुर्की की आम जनता युद्ध के खिलाफ है

तुर्की की आम जनता युद्ध के खिलाफ है

तुर्की की मौजूदा छवि एक युद्ध उन्मादी देश की हो गयी है, जहां की आम जनता अपनी सरकार का विरोध कर रही है, और सरकार जन भवनाओं के विपरीत, साम्राज्यवादी हितों से संचालित हो रही है। नाटो सैन्य संगठन के ...

Read More »

पेशेवर विद्रोहियों की बढ़ती दखल

पेशेवर विद्रोहियों की बढ़ती दखल

सीरिया आज की दुनिया का आर्इना बन गया है, जहां अमेरिकी साम्राज्य, पशिचमी ताकतें, नाटो सैन्य संगठन और अरब जगत के उनके मित्र देश और पेशेवर आतंकी-विद्रोही, एक देश को कुचलने की साजिशों में लगे हैं। गृहयुद्ध जारी है और ...

Read More »

अफगानिस्तान के मादक पदार्थों पर अमेरिकी वर्चस्व

अफगानिस्तान के मादक पदार्थों पर अमेरिकी वर्चस्व

अफगानिस्तान में 4 लाख 60 हजार अफगान बेघरबार शरणार्थी हैं। अपने ही देश में शरणार्थियों की तरह जी रहे हैं। और दूसरे देशों में जहां भी वो हैं, उन पर या तो गहरी नजर रखी जाती है, या उन्हें वहां ...

Read More »
Scroll To Top