Home / 2013 / November

Monthly Archives: November 2013

वेनेजुएला में स्ट्रीट गर्वमेण्ट के दूसरे दौर की शुरूआत

वेनेजुएला में स्ट्रीट गर्वमेण्ट के दूसरे दौर की शुरूआत

लातिनी अमेरिका के समाजवादी देशों के हाथों में महाद्वीप का नेतृत्व आ गया है, जो ’21वीं सदी के समाजवाद’ का निर्माण न सिर्फ अपने देश में कर रहे हैं, बलिक समाजवादी विकास कार्यक्रमों के जरिये सामाजिक जनचेतना का निर्माण गैर ...

Read More »

एशिया में साझेदारी और समझौतों से बढ़ता खतरा

एशिया में साझेदारी और समझौतों से बढ़ता खतरा

‘एशिया पिवोट’ एशिया को दुनिया का केंद्र बनाने की राजनीति अमेरिकी साजिश बन गयी है। जिसका मतलब वैश्वीकरण की तरह ही एशिया का अमेरिकीकरण है। जिसका मकसद उसके प्राकृतिक सम्पदा, जन-श्रमशकित के सस्ते स्त्रोत और बाजार पर अमेरिकी वर्चस्व कायम ...

Read More »

चीन की सरकार समाजवाद की ओर लौटना चाहती है?

चीन की सरकार समाजवाद की ओर लौटना चाहती है?

चीन हमारे लिये आज भी पूर्व समाजवादी देश है। जिसने समाजवदी जमीन पर मुक्त बाजारवादी अर्थव्यवस्था के जरिये आर्थिक समृद्धि हासिल कर ली है, और वैशिवक स्तर पर अमेरिका के समकक्ष सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है। माना यही जा रहा है, ...

Read More »

अमेरिकी शटडाउन और दिवालियापन का खेल

अमेरिकी शटडाउन और दिवालियापन का खेल

अमेरिकी सरकार सारी दुनिया को एक ऐसे बड़े संकट में फंसाने की तैयारी कर रही हैं, जिससे उसके वर्चस्व को चुनौतियां न मिल सकें। वह पिछले एक दशक से यही कर रही है। बराक ओबामा जिसकी सूरत हैं। वैशिवक मंदी ...

Read More »

स्पेन में वित्तीय संकट गलियों और सड़कों पर फटेहाल है

स्पेन में वित्तीय संकट गलियों और सड़कों पर फटेहाल है

स्पेन का वित्तीय संकट अब गलियों और सड़कों पर फटेहाल घूमने लगा है। सरकार की नीति और यूरोपीय संघ के निर्णयों के खिलाफ नाराज लोग यदि सड़कों पर हैं, तो समाज का सबसे कमजोर वर्ग सरकारी कटौतियों के साथ अपनी ...

Read More »

अफ्रीका में अमेरिका जहां है, वहीं आतंकवाद है

अफ्रीका में अमेरिका जहां है, वहीं आतंकवाद है

अफ्रीका की समस्या यूरोपीय देश और अमेरिकी साम्राज्य है, जिन्होंने उस महाद्वीप के शोषण एवं दोहन को अपनी समृद्धि का आधार बना लिया है। जिनके पास विकास की ऐसी योजनायें हैं, कि उनके आर्थिक सहयोग से अफ्रीकी देश तबाह हो ...

Read More »

ग्रीस में बढ़ता फासिस्टवाद

ग्रीस में बढ़ता फासिस्टवाद

ग्रीस में सरकार के द्वारा किये जा रहे सामाजिक हमले और फासिस्ट हिंसा के खिलाफ जनप्रदर्शनों की शुरूआत हो गयी है। गये महीने 19 सितम्बर को हुए जनप्रदर्शन में, देश के राजनीतिक दलों ने भी भाग लिया और सरकार की ...

Read More »

बंदरों ने जनतंत्र में कोहराम मचा रखा है

बंदरों ने जनतंत्र में कोहराम मचा रखा है

‘गांधी जी और उनके तीन बंदरों के बारे में तो आप जानते ही होंगे?” वैसे, आप यह मत पूछियेगा की ”गांधी जी कौन हैं? और वो बंदर काहे पाले थे?” मुझे आप पर यकीन है, कि आप ऐसे सवाल नहीं ...

Read More »

यूरोपीय संघ यूरोपीय देशों को लूट रहा है

यूरोपीय संघ यूरोपीय देशों को लूट रहा है

पिछले महीने आक्सफेम एड एजेन्सी के द्वारा जारी एक रिपोर्ट में कहा गया है, कि ”बीमार के इलाज के लिये एक ऐसी दवा की खोज की गयी है, जिसमें मरीज को मार कर बीमारी का इलाज किया जाता है।” यह ...

Read More »

बड़ों का चक्कर बड़ा है! कोल ब्लाक आबंटन- चौदहवां एफआर्इआर

बड़ों का चक्कर बड़ा है! कोल ब्लाक आबंटन- चौदहवां एफआर्इआर

सवालों के दायरे में कुछ ऐसे सवाल हैं, जिसका जवाब देश की आम जनता दे सकती है, मगर उसके पास इन सवालों का ठीक-ठीक जवाब नहीं है, और ऐसी कोर्इ जगह नहीं है, जहां से उन्हें सवालों का सही जवाब ...

Read More »
Scroll To Top