Home / साहित्य / कविता / निखिल ‘नादां’ की तीन कविताएं

निखिल ‘नादां’ की तीन कविताएं

13082526_955551824565756_4384751737337316809_n1. नहर में चाँद

ऑफिस से घर लौट रहा था,
रेलगाड़ी में बैठे बैठे ,
खिड़की से बाहर नज़र चली गयी,
चांदनी रात थी |
खिड़की से बाहर ,
आसमान की तरफ देखा,
तो पाया,
चाँद भी बड़ी रफ़्तार से,
पीछे पीछे चला आ रहा था,
हमारी रेलगाड़ी,
किसी नहर के पुल से गुज़री,
मैंने देखा कि,
चाँद नहर में गिर गया है ,
और,
पानी के भीतर ऐसे हिल रहा था ,
मानो मुझे पुकार रहा हो |
पर अब,
किसी गिरे हुए को हाथ देकर कौन उठाता है ?
मैंने भी नज़र फेर ली |
अगली सुबह,
ऑफिस जाते समय,
फिर वहाँ से गुज़रा,
तब चाँद वहां नहीं था,
जरूर वह अपने आप ही,
निकल आया होगा नहर से,
और,
कहीं चला गया होगा |

 

2. नारियल का पेड़

रेलगाड़ी से चलते चलते देखा,
मेरा एक दोस्त,
बहुत उदास सा खड़ा था,
ठीक वैसे ही,
जैसे कोई,
बहुत देर तक अपनी प्रेमिका का इंतज़ार करता रहा हो  |
रोज़ आते-जाते,
स्टेशन के पास खड़े,
एक नारियल के पेड़ से दोस्ती हो गयी है |
घर लौट कर,
बिस्तर पर पड़े,
मैं ये सोचता रहा,
आखिर मेरा दोस्त,
इतना उदास – चुपचाप सा क्यों खड़ा था ,
आज उसने,
मुझे देखकर,
कोई हरकत भी नहीं की थी |
मुझे भी सारी रात,
नींद नहीं आयी |
गर्मी इतनी थी,
कि खिड़की खोलने का भी,
कोई फायदा न हुआ,
कल सारी रात हवा नहीं आयी |

 

3. इच्छा

कोई न कोई इच्छा,
हर रोज़,
अधूरी छूट जाती है |
समय के जैसा एक खाता है,
जिसमें,
दिन, हफ्ते, महीने, साल के जैसे,
कई,
छोटे – बड़े सिक्के हैं |
सिक्के हैं कि,
खर्च होते जा रहे हैं,
खाते का जमा धन,
ख़त्म होता जा रहा है,
मैं जो चाहता हूँ ,
वो खरीद नहीं पा रहा हूँ |
मेरे खाते से,
जितने सिक्के निकलते जा रहे हैं,
उतना ही,
अफ़सोस इकठ्ठा होता जा रहा है …

-निखिल पांडेय

सॉफ्टवेर इंजीनियर,
फिनांशियल सॉफ्टवेयर्स,
मुंबई, इंडिया |

Print Friendly

2 comments

  1. I m a poem writer. It will be a matter of happiness that U will publish my poems on ur sight. Will U help me, how to get my poems published in ur e paper.
    Thnxsss
    Vishal Narayan

    • Hello Mr. Vishal,

      Thanks for getting in touch with us. Glad to know that you are interested in getting your creations published on our site. First of all, you need to email at least 4-5 creations of yours to us at info@e-news.in
      Our editorial team will then review them and will let you know with further details.

      Best Regards,
      Team E-News.in

Leave a Reply to Vishal Narayan Cancel reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Select language:
Hindi
English
Scroll To Top