सेना को साझेदार बनाने की रणनीति

सेना को साझेदार बनाने की रणनीति

कश्मीर की समस्या का समाधान क्या सेना निकाल सकती है? हमारे लिये यह सवाल है, मगर केंद्र की मोदी सरकार इस निर्णय पर पहुंच चुकी है, कि हथियारों के साथ वार्ता ही समस्या का समाधान है। गोलियां दागे, पैलट गन ...

Read More »

उत्तर प्रदेश में कौन कहां है?

उत्तर प्रदेश में कौन कहां है?

उत्तर प्रदेश में कौन कहां है? सरकार बनी सपा आपसी लड़ाई लड़ते हुए, मरहम-पट्टी कर रही है। बसपा बिखराव के साथ संभलने में लगी है। भाजपा अपने को जितना मजबूत दिखा रही थी उतनी है नहीं। ‘265 प्लस‘ का नारा, ...

Read More »

सर्जिकल स्ट्राईक – काली स्याही और देशभक्ति की तख्ती

सर्जिकल स्ट्राईक – काली स्याही और देशभक्ति की तख्ती

यदि सर्जिकल स्ट्राइक एक सवाल है, तो उड़ी आतंकी हमले को भी एक सवाल के नजरिये से देखा जाना चाहिये, जो कि वास्तव में एक सवाल है। जिसका राजनीतिक लाभ भारत की मोदी सरकार उठा रही है। और यह खयाल ...

Read More »

भारत-पाक, लोकतंत्र की बढ़ती मुश्किलें

भारत-पाक, लोकतंत्र की बढ़ती मुश्किलें

जम्मू-कश्मीर में, भारत के उड़ी सैन्य मुख्यालय पर हुए आतंकी हमले के बाद ‘कूटनीतिक लड़ाई‘ अब ‘घुस कर मारने की रणनीति‘ में बदल गयी है। विश्व समुदाय के बीच भारत की छवि पहली बार एक आक्रामक देश की बन रही ...

Read More »

जेएनयू एक खुली किताब है – 2

जेएनयू एक खुली किताब है – 2

‘जेएनयू एक खुली किताब‘ के तहत हमने देश के वामपंथी और कम्युनिस्ट पार्टियों से बातें की थी, बातें हम उन्हीं से करेंगे, क्योंकि मार्क्सवाद से हमारा अपना नाता है, मगर बीच में एक ऐसी सरकार घुस आयी है, जिसे प्रकाश ...

Read More »

उड़ी आतंकी हमला – 2

उड़ी आतंकी हमला – 2

इस बात के ठोस प्रमाण हैं, कि दुनिया के अधिकांश आतंकी संगठनों के पीछे यूरोपीय देश, अमेरिकी साम्राज्य और उसके मित्र देश हैं। उन्हीं के आर्थिक सहयोग, कूटनीतिक समर्थन और दिखावटी विरोध से आतंकी संगठनों की सांसें चल रही हैं, ...

Read More »

एक दूसरे पर लदे दिन

एक दूसरे पर लदे दिन

एक दिन को मैं दूसरे दिन पर रख देता हूं यह जानते हुए कि रखे हुए दिनों की अपनी मुसीबतें हैं, उन्हें रोज नये दिन का बोझ उठाना पड़ता है, रातें गुजारनी पड़ती हैं आशंकाओं में, जिन बातों पर उनका ...

Read More »

उड़ी आतंकी हमला

उड़ी आतंकी हमला

जम्मु-कश्मीर के उड़ी सैन्य मुख्यालय पर हुए आतंकी हमले के बारे में कुछ भी कहने या लिखने से पहले हम यह खुले तौर पर घोषित करते हैं, कि हम आतंकवाद के खिलाफ हैं। हर किस्म के आतंकवाद के खिलाफ हैं, ...

Read More »

अनवर सुहैल की तीन कविताएं

अनवर सुहैल की तीन कविताएं

1. भागते रहे हम छिपे हुए है कैमरे गुपचुप टोह में हैं और उनकी शिकारी निगाहें खोज रही हैं भागते रहे हम और बचाते रहे अपना वजूद कि संसार में बची रहे हुनर और कला शिकारी निगाहों से बचते-बचाते घने ...

Read More »

बुरे दिनों की पहचान

बुरे दिनों की पहचान

अच्छे दिनों की पहचान तो हो नहीं सकी, बुरे दिनों की पहचान हमें कर लेनी चाहिये। क्या कहते हैं, आप? कहने को शायद कुछ भी नहीं है, लेकिन क्या कीजियेगा, हम जिसे जानते और पहचानते हैं, कई बार उसकी पहचान ...

Read More »
Scroll To Top